किम के स्वास्थ्य से जुड़ी खबरों के बीच उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग सर्जरी के बाद गंभीर खतरे में

0
loading...

सियोल : दक्षिण कोरिया की सरकार ने मंगलवार को अमेरिकी मीडिया रिपोर्टों पर दावा करते हुए कहा कि उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन सर्जरी के बाद बेहद नाजुक स्थिति में हैं।

हालांकि, दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्रालय और राष्ट्रीय खुफिया एजेंसी के अधिकारियों ने कहा कि वे रिपोर्ट की तुरंत पुष्टि नहीं कर सकते।

लेकिन अमेरिकी टीवी चैनल सीएनएन ने एक अमेरिकी अधिकारी के हवाले से बताया कि किम सर्जरी के बाद गंभीर खतरे में हैं। बताया जा रहा है कि किम जोंग उन गंभीर रूप से बीमार हो गए हैं और जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं।

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक किम जोंग की सर्जरी सफल नहीं हो सकी और इससे उनकी हालत और बिगड़ गई है। साथी देश दक्षिण कोरियाई दबे मुंह किम जोंग पर बयान दे रहा है, लेकिन किसी भी रिपोर्ट को पुष्ट नहीं कर रहा।

पहले जहां दक्षिण कोरियाई ने किम जोंग की हालत खराब की रिपोर्ट पर पुष्टि नहीं की, वैसे ही एकीकरण मंत्रालय (जो कोरियाई मामलों से संबंधित है) ने डेली एनके की एक अन्य रिपोर्ट की भी पुष्टि नहीं की जिसमें सूत्रों के हवाले से कहा गया था कि किम राजधानी प्योंगयांग में दिल की सर्जरी से उबर रहे हैं और उनकी स्थिति में सुधार हो रहा है। कुल मिला कर दो बातें की जा रही है, जिस पर दक्षिण कोरियाई कुछ भी साफ नहीं कर रहा है।

loading...

हालांकि, अमेरिकी मीडिया भी किम जोंग पर नजर बनाए रखे हुए हैं। इसके अलावा जापान ने भी किम जोंग उन की सेहत पर नजर बना रखी है।

गौरतलब है कि किम जोंग अपने अपने दादा के जन्‍मदिन पर होने वाले कार्यक्रम में भी 15 अप्रैल को दिखाई नहीं दिए थे। जिसके बाद उनकी हालत को लेकर चिंता जताई जाने लगी थी। वहीं, बताया गया कि खुफिया रिपोर्टो के मुताबिक उत्‍तर कोरिया से सही सूचनाओं का आना बहुत मुश्किल है।

अभी कुछ दिनों पहले उत्तर कोरिया में हुए एक प्रमुख सार्वजनिक समारोह में सर्वोच्च नेता किम जोंग उन शामिल नहीं हुए। समारोह से उनकी गैर मौजूदगी मीडिया और अंतरराष्ट्रीय जगत में सवाल पैदा करने लगी। कहा जाने लगा था कि किम जोंग अस्वस्थ हैं और वह घर से बाहर निकलने की स्थिति में नहीं हैं।

पिछले हफ्ते उत्तर कोरिया ने अपने संस्थापक किम इल सुंग की जयंती मनाई। सुंग वर्तमान नेता किम जोंग के बाबा थे। उत्तर कोरिया में इस दिन की राष्ट्रीय दिवस के रूप में मान्यता है।

सार्वजनिक अवकाश रहता है और बड़े पैमाने पर श्रद्धांजलि समारोह आयोजित होते हैं। कमसूसन पैलेस में बनी किम इल सुंग की समाधि पर पुष्प अर्पित करने के लिए देश के सभी उच्च पदस्थ नेता और अधिकारी पहुंचे, लेकिन किम जोंग नहीं आए। जबकि पूर्व के वर्षों में इस दिन किम जोंग खासतौर पर वहां जाते थे और कुछ वक्त बिताते थे।

उस वक्त को मीडिया में प्रमुखता से दिखाया जाता था। लेकिन इस बार सरकारी मीडिया के जारी फोटो और वीडियो में किम जोंग दिखाई नहीं दिए। इसी के बाद 36 साल के किम जोंग के स्वास्थ्य को लेकर आशंकाएं जताई जाने लगीं।

मोटापे के शिकार किम जोंग के स्वास्थ्य को लेकर पहले भी चर्चाएं उठी हैं। लेकिन हमेशा उन्हें पश्चिमी मीडिया के दुष्प्रचार का नाम देकर खारिज किया जाता रहा है।

loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.